Select Page

Adam Zagajewski – STAR

Star


 

I returned to you years later,
gray and lovely city,
unchanging city
buried in the waters of the past.

 

I’m no longer the student
of philosophy, poetry, and curiosity,
I’m not the young poet who wrote
too many lines

 

and wandered in the maze
of narrow streets and illusions.
The sovereign of clocks and shadows
has touched my brow with his hand,

 

but still I’m guided by
a star by brightness
and only brightness
can undo or save me.

 

 

Poet – Adam Zagajewski

Translator – Clare Cavanagh

सितारा


 

बरसों बाद लौटा हूं तुम तक

मटमैले और प्यारे शहर,

कभी न बदलने वाले शहर

अतीत के जल के नीचे दफ़न

 

मैं पहले की तरह अब

दर्शन, कविता और जिज्ञासा का विद्यार्थी नहीं रहा,

मैं अब वह युवा कवि नहीं रहा

जो लिखता था बहुत सारी पंक्तियां

 

और संकरी गलियों व भरम की भूलभुलैया में

भटकता था.

घडिय़ों और परछाइयों के राजा ने

मेरे ललाट को अपने हाथों से स्पर्श किया है,

 

लेकिन अब भी रोशनी का एक सितारा

मेरा मार्गदर्शन करता है

और रोशनी ही है

जो मुझे कर सकती है नष्ट या बचा सकती है.

 

 

कवि – एडम ज़गायेव्स्की

अनुवादक – गीत चतुर्वेदी