Select Page

Bei Dao – Black Map

Black Map


 

in the end, cold crows piece together

the night: a black map

I’ve come home—the way back

longer than the wrong road

long as a life

 

bring the heart of winter

when spring water and horse pills

become the words of night

when memory barks

a rainbow haunts the black market

 

my father’s life-spark small as a pea

I am his echo

turning the corner of encounters

a former lover hides in a wind

swirling with letters

 

Beijing, let me

toast your lamplights

let my white hair lead

the way through the black map

as though a storm were taking you to fly

 

I wait in line until the small window

shuts: O the bright moon

I go home—reunions

are one less

fewer than goodbyes

 

 

Poet – Bei Dao

Translator – Eliot Weinberger

काला नक़्शा


 

अंत में ठंडे कौए सारे टुकड़े जोड़कर

रात बनाते हैं : एक काला नक़्शा

मैं घर पहुंच गया हूं – पीछे रास्ता

ग़लत रास्ते से भी ज़्यादा लंबा निकला

उतना ही लंबा जितना जीवन

 

जाड़ों का हृदय लाओ

जब चश्मे का पानी और बेतहाशा विशाल दवा-गोलियां

रात के शब्द बन जाती हैं

जब स्मृति भौंकती है

इंद्रधनुष काले बाज़ार पर प्रेतबाधा की तरह उगता है

 

मेरे पिता के जीवन की कौंध उतनी ही छोटी थी जितनी मटर का दाना

मैं उनकी प्रतिध्वनि हूं

मुलाक़ातों के कोनों को पलटता हुआ

एक पूर्व-प्रेमी चिट्ठियों से चकराती हवा के पीछे

छिप जाता है

 

बीजिंग, शराब का यह जाम

तुम्हारी राहबत्तियों के लिए

मेरे सफ़ेद बालों को इस अंधेरे नक़्शे से

रास्ता खोज निकालने दो

जैसे कि कोई तूफ़ान तुम्हें उड़ाए ले जा रहा हो

 

मैं क़तार में खड़ा इंतज़ार करता हूं

जब कि तक वह छोटी खिड़की बंद नहीं हो जाती :

ओ मेरे चमकीले चांद

मैं घर जा रहा हूं

जीवन में कुल जितनी अलविदा होती हैं

उनसे एक कम पुनर्मिलन होता है

 

 

कवि – बेई दाओ

अनुवादक – गीत चतुर्वेदी